.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

18 फ़रवरी 2017

प्रताप आय पांणी जो -श्याम गढ़वी लोकसहित्यकर

     🎤प्रताप आय पांणी जो🎤

🌷पाचुटिये जो पधरो थिए, जेर व्यव्हार थिए वाणी जो
श्याम गाल सच्ची आय, प्रताप आय पाणी जो

🌷बुड़ल नैया बें जी के, तुरत ऐ ताणी धो
श्याम गाल सच्ची आय, प्रताप आय पाणी जो

🌷पुनई परचो पधरो आय ,हडक्वा भजे हांणि जो
श्याम गाल सच्ची आय, प्रताप आय पाणी जो

🌷वड्डे मडध पीर ते ,वजे ढोल वधाणी जो
श्याम गाल सच्ची आय, प्रताप आय पाणी जो

🌷आशेतराई ओलिया ,जंगल  में जमांणी धो
श्याम गाल सच्ची आय, प्रताप आय पाणी जो

🌷तरा वायुं ने वडले जी ,मोज जोको मांणि धो
श्याम गाल सच्ची आय ,प्रताप आय पाणी जो

🌷संत सूरा अने कलाजी ,वड़ी भूमि वखाणी धो
श्याम गाल सच्ची आय, प्रताप आय पांणी जो
                       
           श्याम गढ़वी लोकसहित्यकर   (मु-पांचोटिया हाले मोटा करोडिया )
  9586584565

कोई टिप्पणी नहीं:

Sponsored Ads