.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

29 जून 2017

ओखाधर जावुं के मढडा जावुं....

राग:(विरपुर जावु के सताधार जावु)

फिल्म : महि सागर ने हारे

ओखाधर जावुं के मढडा जावुं
हाल तने हाल मारी आयल बतावुं
हाल तने हाल मारी आयल बतावुं
ओखाधर जावुं के मढडा जावुं....

ओखाधरे बेठी छे मोगल मां
जेनी भकित ना रंग भरपुर मा
वनवगडा मा वास ऐवो मां नो प़भास
मां ना पगला नी तने रजे रज बतावुं
ओखाधर जावुं के मढडा जावुं....

मढडा धामे बेठी छे सोनल मां
मां नी मुतीँ ना तेज भरपुर मा
आई ना आदेश नो हाथ
सवना मन मा छे वास
आई ना हाकल नी हेताळी रीत बतावुं
ओखाधर जावुं के मढडा जावुं....

गाम गोरवीयाळे बेठी सत मा
ऐवी लीमंडा नी छांये अदभुत मा
ऐवा ओजत ना नीर पुरे सतना प़तीक
गंगाजळ नी सरवाणीं नी प़ीत बतावुं
ओखाधर जावुं के मढडा जावुं....

भगुडा गामे बेठी छे सत वृत मा
ऐवा परचा पुरे छे पल भर मा
ऐवो भगुडा नो भाव मां ना हेत नो प़भाव
तने नजरो नजर हुं तो रोज बतावुं

ओखाधर जावुं के मढडा जावुं
हाल तने हाल मारी आयल बतावुं
हाल तने हाल मारी आयल बतावुं

🌷🌷 जय माताजी🌷🌷

रचयता: माया बेन गढवी
गाम : राजकोट , जसदण

भुल चुक सुधारवी

कोई टिप्पणी नहीं:

Sponsored Ads