.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

31 जनवरी 2018

19 वां वार्षिक महोत्सव एवं प्रतिभा सन्मान समारोह अहेवाल बाय चारणाचार पत्रिका उदयपुर सुल्तान सिंह देवल

19 वां वार्षिक महोत्सव एवं प्रतिभा सन्मान समारोह अहेवाल बाय चारणाचार पत्रिका उदयपुर सुल्तान सिंह देवल

जय सगत लूंग माँ


*सगत लूंग माँ के 19 वे वार्षिक मेले एवम प्रतिभा सम्मान समारोह आई श्री देवल माँ सवनी पाटिया वेरावल सोमनाथ के सानिध्य में दिनांक 30 जनवरी 2018 को सम्पन हुआ *2 दिन के इस मेले के लाभार्थी श्री शिव दत्त सिंह जी पिता श्री माधो सिंह जी अखवी लोलाव हाल बेंगलोर थे*
इस कार्यक्रम की सुरुआत 29 जनवरी दोपहर 3 बजे मन्दिर प्रांगण से  भव्य शोभायात्रा आरम्भ हुई
शोभायात्रा के लिए जैसे ही आई श्री  देवल माँ रथ में विराज मान हुए की आसमान में सगत लूंग माँ स्वयं सवली(चील ) रूप में आकर भक्तो को दर्शन दिए एवम साथ मे अपने इष्ट देवी हीरा माँ व हरिया माँ भी सवली रूप में पधारे व  एक साथ तीन सवली (चील )रूप में माँ के दर्शन हुए  गुलाब के फूलों की पंखुड़ियों व गुलाल  की वर्षा के साथ सभी भक्त गण नाचते गाते बजाते आगे बढे  गाँव  के मार्ग में हर समाज के स्वागत द्वार  लगा कर सभी समाजो के लोगो ने  शोभायात्रा का स्वागत किया शोभायात्रा में माँ के जयकारो से भक्त नाचते हुए आई श्री करणी जी के मंदिर के प्राँगण  पहुचे
यहां सगत लूंग माँ के विशेष भक्त नरेंद्र सिंह जी झांकर एवम दौलत दान जी वलदरा ने अपने सुरेले कंठ से श्री करणी जी की आरती की एवम सभी मात्र शक्तियों ने गरबा नृत्य किया  *मेला  लाभार्थी  श्री शिव दत्त सिंह जी अखवी पिता माधो सिंह जी लोलाव जोधपुर की ओर से कोल्ड्रिंक की व्यवस्थाएं की गई थी* इसके बाद शोभायात्रा हरिया माता जी मन्दिर पहुची वहां भी माता जी की आरती की गई हजारो की संख्या  में भक्त शोभायात्रा का आनन्द लेते हुए आगे बढ रहे थे
शोभायात्रा   मंदिर पहुची व वहां सगत लूंग माँ व हिंगलाज माँ मंदिर में माँ की आरती जयकारो के साथ सम्पन हुई  इसके बाद सभी भक्तो ने प्रशादी ग्रहण की व जिनके व्रत था। उनके लिए  फरहाली की व्यवस्था थी पता ही नही चला समय गुजरता गया व रात्रि में चिरजा गायन का समय सुरु हुआ व जहां राजवीर सा ने गणपति जी  पधारो मारा गणपति देवा का आव्हान कर कार्य कर्म की सुरुआत की सुर सम्राट नारायण दान जी हरलाया ने अपनी आवाज के जादू से भक्तो  का मन मोह लिया आवड़ दान सा दही पड़ा ने *चोखा घणा लागे म्हाने प्यारा घणा लागे सा दर्शन म्हाने  लूंग मात रा अच्छा लागे सा* पर भक्त झूम उठे   तो जैसे ही उगम दान जी सांगड में चिरजा की प्रस्तुति की लिए मंच पर आये  पूरा पांडाल माँ के जयकारों से गुज उठा भक्त गण उनको सुनने को बेताब थे जैसे ही उगम दान जी अपनी वाणी से सुरुआत की सभी भक्त गण झूमने लगे और लगातार 2 घण्टे के शिव तांडव व अपनी प्रस्तुतियों से दर्शकों का मन मोह लिया अभिषेक गढ़वी, परेश गढ़वी , ओर नाग दान गड़वी ने भी अपनी गायकी  से भक्तो का  दिल जीत लिया इसके  साथ विमला बाईसा सनवाड़ा.व उत्तम सिंह वलदरा गणपत सिंह सांगड व संकर जी चौहान कवि राजेन्द्र झणकली  ने अपनी प्रस्तुति दी  यह क्रम सुबह 6 बजे तक चलता रहा इस कार्यक्रम के संचालन श्री अवधेश सिंह  देवल व नरेंद्र सिंह जी झाँकर ने अपने वाणी के शब्दो से चार चांद लगा दिए  अंतिम चिरजा उगम दान जी दर्शको की विशेष डिमांड पर डुंगरियो  रलियावतो की चिरजा की प्रस्तुति दी  व इसके पश्चात प्रभाती के बाद उगम दान व राजवीर सिंह व आवड दान जी दही पड़ा ने भेरू जी के गायन के पच्चात आरती की पूरी रात सभी भक्तों को लिए चाय व कॉफी व पानी की व्यवस्थाएं कार्यकर्ता समय समय पर सभी दर्शको को पांडाल में उपलब्ध करवाते रहे दुसरे दिन 30 जनवरी को सुबह 9 बजे आई श्री देवल माता जी के सानिध्य में प्रतिभावान सम्मान समारोह की सुरुआत कार्यक्रम के नियमानुसार जिस बालिका के सर्वाधिक अंक आये है उसके हाथ से दिप प्रज्ज्वलित कर करया गया  जिसमे इस बार डूंगरपुर जिले के मेरोप गाँव की सु श्री निकिता चारण को आई श्री देवल माँ के साथ यह सौभाग्य प्राप्त हुआ 
कार्यक्रम में अतिथि के रुप में श्री माधो सिंह जी अखवी श्री  शिव दत्त सिंह जी अखवी  जुडिया  के अध्य्क्ष श्री लक्ष्मन सिंह जी,  केसरी सिंह सेवा संस्थान से श्री भवानी सिंह जी कविया  , श्री चारण विकाष परिषद से श्री नारायण सा तोलेसर , अखिल भारतीय चारण महा सभा के सचिव श्री आवड़ दान जी आलासन  थे कार्यक्रम के दोरान करीब 240 स्वजातीय बन्धुओ व मात्र सख्तियों का सम्मान किया गया  जिसमे नवी क्लाश से ग्रेजुवेशन तक व सभी नव चयनित सरकारी कर्मचारियो को  समानित किया तथा  3 विशेष प्रतिभाओ को भी समानित किया गया  जिसमें  iim की सु श्री .....बाड़मेर  abvp की अध्य्क्ष  सु श्री तनुजा चारण व सगत लूंग माँ किर्केट क्लब के  कप्तान श्री गिरवर दान व सचिव शेणी दान जी का स्माम्मन किया गया  भवानी सिंह जी बगड़ी RAS टॉपर  का आई श्री देवल माँ ने सम्मान किया भवानी सिंह जी ने  युवाओं को सम्बोधित किया एवम आद्य शक्ति पर विश्वास रख कर सच्ची लगन व मेहनत कर सफलता हासिल करने को प्रेरित किया  हीरा माता जी (माजी मंगरा) पर पौधा रोपण का कार्य करवा कर  वर्ष भर उनका रख रखाव करने पर  वलदरा निवासी श्री शेणी दान जी का भी स्माम्न किया गया   व हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी झांकर के निर्भय  आढा पुत्र श्री नीरज आढा ने अपनी साल भर की गुलक की बचत राशि 3300 रुपये संस्थान अध्य्क्ष नरपत सिंह जी को ट्रस्ट कोष में जमा करवाई
ऐसी के साथ संस्थान कोषाध्यक्ष श्री डूंगर सिंह जी आसिया  ने साल भर के आय व्यय का विवरण पेश किया  सिरोहि चारण समाज के अध्य्क्ष श्री राजेन्द्र सिंह जी ने ट्रस्ट की अब तक कि गतिविधियों पर प्रकाश डाला  अंत मे देवल माँ ने अपने आशीर्वचन में सभी नव चयनित सरकारी  बन्धुओ को कहा कि वे समाज हित में  कार्य करे व अपनी आने वाली पीढ़ी को प्रोत्साहित  कर आगे बढाने में  सहयोग करे  दोपहर 3 बजे ओटाराम देवासी गो पालन राज्य मंत्री राजस्थान सरकार ने अपने निजी खर्च से   स्वागत द्वार  का लोकार्पण  किया गया  इस अवसर पर राजस्थान गुजरात मध्यप्रदेश मुम्बई पूना बेंगलोर से हजारों की संख्या में माँ  भक्तो ने भाग लिया कई शहरों से उदयपुर से चारणाचार पत्रिका व रॉयल्स  , जोधपुर ,पाली से  शिव दत्त सिंह जी , , देसूरी, सिरोहि भवानी सिंह जी सांदू ने   बस की निशुल्क  व्यवस्था कीअतः में संस्थान अध्य्क्ष नरपत सिंह जी आसिया ने सभी का आभार प्रकट किया व इस पूरे कार्यक्रम के लिये ट्रस्ट के कार्यकर्ता श्री नरपत सिंह जी श्री डूंगर सिंह जी श्री राजेन्द्र सिंह जी श्री चंद्र भान जी श्री नरेन्द्र सिंह जी श्री जयकरन सिंह जी श्री मोरार दान जी श्री नरेन्द्र सिंह जी झाँकर श्री हरि सिंह जी , श्री महिपाल सिंह जी गंगावास , श्री गोविंद दान जी , श्री भवर दान जी , श्री अवदेश सिंह जी देवल कसिन्द्रा, श्री दौलत दान जी , श्री हिंगलाज दान जी , श्री मंगल दान जी , श्री जगदीश k दान जी , श्री जय सिंह जी पिता बलवंत दान जी  , श्री जगदीश दान जी , श्री भरत सिंह जी , श्री शेतान सिंह जी , श्री जय सिंह जी ,श्री आवड़ दान जी ,जे डी पालनपुर , नारायण सा तोलेसर आवड़ दान सा केर , बी डी जिनकली , वेणीदान गोमाई  का बहुत बहुत आभार

चारणाचार पत्रिका उदयपुर
सुल्तान सिंह देवल
7737095071






कोई टिप्पणी नहीं:

Sponsored Ads