.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

6 फ़रवरी 2015

चारण जाति की मुख्य तेवीस शाखाए

चारण जाति की मुख्य तेवीस शाखाए हें! कुछ लोग इसकीगिनती एक सो बीस बताते हें , लेकिन मुख्य तेवीसहें !उपशाखाए ५६७ हें अंत शाखाओ की गिनती नही हें !
जो अखावत, लखावत , इशरावत, जुगतावत , अमरावत आदियोग पुरुषों के नाम गोत्र हें !!

. मारू शाख : ५२ उपशाखा , इसमे मुख्य कोचर , देथा, सोदा,सीलगा, सुरतानिया , कीनिया आदि !

. सऊवा शाख : ४७ उपशाखाइसमे मुख्य , इसमे मुख्य वरसडा,गोड़, सताल, मातंग, माणकव आदि!

. बाटी शाख : ३० उपशाखा , इसमे मुख्य गाडन,सेलगडा,भसिया आदि !
. तुबैल शाख :२० उपशाखा , इसमे मुख्य गुगडा, लखाणी,रागी, वेश आदि !
. वाचा शाख : १६ उपशाखा , इसमे मुख्य आढा , महिया,सांदूआदि !
. मीसण शाख : १६ उपशाखा , इसमे मुख्य मेगु, देमाल, तमरआदि !
. ढाकरिया शाख : २४ उपशाखा , इसमे मुख्य कटारिया ,अमोतिया , खेता , गोधा , गिरिया आदि !

. जाखला शाख :  उपशाखा , इसमे मुख्य खलेल, महिसुर,झमाल आदि !
. चौराडा शाख : ८४ उपशाखा , इसमे मुख्य कविया , खडिया ,थेहड़ , चीबा आदि !
१०. गुनायच शाख : १४ उपशाखा , इसमे मुख्य गंगाणीय,सियाल, मालेधा आदि !
११. टापरिया शाख : 1 उपशाखा , इसमे मुख्य शशिमाल,आतुल, जाखा आदि !
१२. भाचलिया शाख : १६ उपशाखा , इसमे मुख्य सिन्ढायच ,उज्जवल, मजीढीया आदि !
१३. नरा शाख : ८४ उपशाखा , इसमे मुख्य कविया, खिडिया,चीता, थेहड़ आदि !
१४. अवसुरा शाख : ५५ उपशाखा , इसमे मुख्य आसिया, मुवड़ ,सुगा, देभल, वणसुर आदि !
१५. नैया शाख : १६ उपशाखा , इसमे मुख्य सीया, सीसटया,थाम्भा आदि !
१६. धांधणिया शाख : १६ उपशाखा , इसमे मुख्य अमर, गोघट,सुमणा आदि !
१७. पुनड़ा शाख : १३ उपशाखा , इसमे मुख्य पुनड़, विजड़ आदि!
१८. लीला शाख :  उपशाखा,
१९. आसणिया शाख : १७ उपशाखा ,
२०. केशरिया शाख : १३ उपशाखा ,इसमे मुख्य मेह्डू,महियारिया , केशरिया , मोकल आदि !
२१. मादा शाख :  उपशाखा , इसमे मुख्य बाला, ढिकरया ,बीझड़ आदि !
२२. रतनु शाख : ४१ उपशाखा , इसमे मुख्य गरवा, नाला, गंग,नर,
२३. रोह्ड़ीया शाख : १२ उपशाखा , इसमे मुख्य बीठू, कलहट,गादु , पुनसी, हड़वेचा, सावल, मीकस, धीरण , होहणीया ,ओलेचा, पातरोड़ , आला,

कोई टिप्पणी नहीं:

Sponsored Ads