.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

1 अक्तूबर 2015

जय जय भबानी अंबिके रचियता :- केशरीसिंहजी सौदा

जय माताजी
आजे केशरीसिंहजी सौदा रचित ऐक अदभुत रचना मानीये
MP3 डाउनलोड करवा माटे Click Here

जय जय भबानी अंबिके करनी ! तिहारी शरन हम ... टेक
बहुत सोये गाढ निद्रा, चाहते जागरन हम.....
स्वातंत्र्यकी तुं महासार तेरे ही है निरझरन हम......
जय जय भवानी अंबिके ! आवड तिहारी शरन हम.....

क्षात्र बलका उद्ररन तुने किया अनुसरन हम.....
परमार्थ में बलिदान अपना कर सिखा दे मरन हम......
जय जय भवानी अंबिके करनी ! तिहारी शरन हम......

संतान सच्चे अभय हों, तेरेही तारन-तरनी ! हम.....
सामर्थ्य दे, मां ! कर सकें यह सिद्र चारन बरन हम.....
जय जय भवानी अंबिके खोडल तिहारी शरन हम.....

वाहन तिहारा 'केहरी' वर मांगता अशरन शरन हम.....
हे अमृत वर्षिणी अंबिके भुलें न तेरे चरन हम......
हे असुर मर्दिनी चंडिके भुलें न तेरे चरन हम......
जय जय भवानी अंबिके सोनल तिहारी शरन हम.....


रचियता :- केशरीसिंहजी सौदा
टाईप :- वेजांध गढवी मोटा भाडिया मांडवी-कच्छ
        

टाईपमां भुल होयतो बंधु क्षमा करजो 
➡ मांडवी(कच्छ), जुनागढ अने भावनगरमां आवेल आपणा समाज नी बोर्डिंगमां दररोज आ प्रार्थनानुं समुह ग्नान थाय छे.
➡ आजे आ साथे श्री लक्ष्मण राग चारण बोर्डिंग मांडवी-कच्छना विधार्थीओ तथा भीमशी बापाना स्वरमां आ प्रार्थना माणीये
MP3 डाउनलोड करवा माटे Click Here
              वंदे सोनल मातरम् 

कोई टिप्पणी नहीं:

Sponsored Ads