.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

18 फ़रवरी 2016

चारणी साहित्य ब्लॉग

जय माताजी

घणां मित्रोना मन मां प्रश्न उदभवता हशे तेमना प्रश्ननो ना जवाब

(1) आ चारणी साहित्य ब्लॉग थी केटली आवक थती हशे ?

जवाब :- आ ब्लॉग थी कोई पण जात नी आवक थती नथी अने कोई पण प्रकार नी ऐड मुकेल नथी(घणां ब्लॉग मां Google Adsense होय छे परंतु आ ब्लॉग पर नथी मुकेल)

🔹परंतु जावक थाय छे
1 समय नो भोग आपवो पड़े छे
2 तमे बधा जाणो ज छो नेट रिर्चाज (फाइल उपलोड मां डेटा घणी वपराय छे रकम केवानी जरूर नथी)
3 डोमीन चार्ज वगेरे वगेरे

(2) रोज ब्लॉग पर अपडेट मुको छो ऐटले नवरा हशो ?

जवाब :- ना तमे जेम धंधो/ नोकरी करो छो तेम हुं पण नोकरी करू छु. छतां समाज सेवा माटे थोडुक समय काढु छु.

(3) आ कामगरी करवानो हेतु ?

जवाब :- आ कामगीरी कोई पण जातनी प्रसिद्धि माटे नथी करतो परंतु टेकनोलोजी ना उपयोग करी समाजनी माहिती , अवनवा समाचार आप सुधी पहोचाडवा माटे  नानकडू प्रयास करेल छे.

(4) ब्लॉग बनाववानी प्रेरणा केवी रीते मळी ?

जवाब :- हाल सोसीयल मीडियानो जमानो छे घणा समाजनी वेबसाईट अने ब्लॉग जोया अने विचार आव्यो के हु पण चारण समाज माटे आवो कोई ब्लॉग बनावी ने समाज सुधी माहिती पहोचाडु.

(5) आ ब्लॉग चलाववा माटे टीम कोई टीम ?

जवाब :- आ ब्लॉग चलाववा माटे कोई ज टीम नथी (परंतु चारणी साहित्य ब्लॉगनी पोस्ट आप बधा सुधी पहोचाडवा माटे हुं (1) मनुदानभाई गढवी- महुवा (2) महेशदानभाई गढवी - अमदावाद अने असंख्य भाईने आभारी छु.) अने कागबापु अने हेमु गढवीना स्वरमां अमूल्य ऑडियोनी सी.डी कुरियर द्रारा मोकलवा बदल वेरशीभाई वरमल - भाटिया तथा माहिती मोकलनार तमामनुं हूं आभारी छु.
(आ ब्लॉग मां माहिती मुकवा माटे (1) मनुदानभाई गढवी-महुवा अने करणभाई गढवी- अमदावाद ने अधिकार आपेल छे.)

(6) तमे क्या पक्ष / संस्था साथे जोड़ायेल छो ?

जवाब :- हुं कोई पक्ष के संस्था साथे जोड़ायेल नथी.

आ कार्य मारा ऐकला थी शकय ज नथी परंतु आप बधाना सहकार थी ज शकाय बनेल छे ऐटले सहकार आपनार तथा चारणी साहित्य ब्लॉगनी पोस्ट समग्र चारण समाज सुधी पहोचानार तमामनुं खूब खूब आभार मानु छु.(कोईनुं नाम रही गयुं होय तो माफ़ करजो)

आपनो नानो भाई
वेजांध गढवी
मोटा भाड़िया मांडवी कच्छ
www.charanisahity.in

     🙏 वंदे सोनल मातरम्  🙏

1 टिप्पणी:

kishan raba ने कहा…

Wah charan wah...mane garv chhe ke tame apni sanskruti ne jagavi rakho chho..jay mogal...jay sonal

Sponsored Ads