.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

14 जुलाई 2016

चाल दोस्त

*चाल दोस्त*
*तद्न जुठा वखाण स्वार्थी वातो*
*आज ऐ ने पडखे मुकी दइऐं*
*चाल दोस्त आज दीलथी मली लइऐं*
*मुखोटा खोटा हास्य ना भीतर रडी लइऐं*
*तेना करता आज भीतर-बहार ऐक थइऐं*
*चाल दोस्त आज दीलथी मली लइऐं*
*पोकण वायदाओ ने खोटी अपेक्षाओ*
*मुकी दइऐं आज स्वजन थई रहीयें*
*चाल दोस्त आज दीलथी मली लइऐं*
*जे शब्दोथी न व्यक्त थती होय लागणी*
*"देव" ऐवा शब्दो ने आज नेवे मुकी दइऐं*
*चाल दोस्त आज दीलथी मली लइऐं*
  *✍देव गढवी*
*नानाकपाया-मुंदरा*
         *कच्छ*

कोई टिप्पणी नहीं:

Sponsored Ads