.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

2 नवंबर 2019

श्री गोधाम महातीर्थ पथमेडा रजत जयंती महोत्सव

श्री गोधाम महातीर्थ पथमेडा रजत जयंती महोत्सव

परम श्रद्धेय गोऋषि स्वामी श्रीदत्त शरणानन्दजी महाराज ना सांनिध्यमां, स्वामीश्री राजेन्द्रदासदेवाचार्यजी महाराज द्रारा श्री वेदलक्षणा गोनवरात्रिना पुनीत अवसर पर श्री गोधाम महातीर्थ आनन्दवन, पथमेडा, श्री कामधेनु शकितपीठ अने श्री कामधेनु सरोवर खाते भारतवर्षना वीतराग गोप्रेमी संत - महापुरूषोना कर कमलोंमां श्री गोधाम महिमा महोत्सव योजायेल जेमां आईश्री देवल मां (सवनी-वेरावळ) उपस्थित रहेला.

श्री गोधाम महातीर्थ पथमेडा रजत जयंती महोत्सव फोटोग्राफ












श्री गोधाम महातीर्थ, पथमेड़ा परिचय
श्री गोपाल गोवर्धन गौशाला गोधाम महातीर्थ पथमेड़ा की स्थापना एवं गोसेवा कार्यकारिणी का गठन करके उसमें संपूर्ण हिंदुऒं का प्रतिनिधित्व सुनिश्चत किया हैं। इसके बाद गोधाम महातीर्थ के दिशा-निर्देश में पश्चिमी राजस्थान एवं गुजरात के विभिन्न क्षेत्रो में गोसेवा आश्रमों व गो सरंक्षण केन्द्रों तथा गो सेवा शिविरों की स्थापना करना प्रारम्भ किया गया। इस अभियान द्वारा गोपालक किसानों एवं धर्मात्मा सज्जनों के माध्यम से गोग्रास संग्रहण करके गोसेवा आश्रमों में आश्रित गोवंश के पालन हेतु पहुँचाना प्रारम्भ किया गया। उपरोक्त अभियान के प्रथम चरण में क्रुर कसाइयों के चंगुल से तथा भयंकर अकाळ की पीड़ा से पीड़ीत लाखों गोवंश के प्राणों को सरंक्षण मिला हैं।


श्री गोधाम महातीर्थ, पथमेड़ा द्वारा श्री गोपाल गोवर्धन गोशाला- पथमेड़ा, श्री मनोरमा गोलोकतीर्थ-नन्दगांव, श्रीमहावीर हनुमान गोशालाश्रम-गोलासन, श्रीखेतेश्वर गोशालाश्रम-खिरोड़ी, श्रीठाकुर गोशालाश्रम-पालड़ी तथा श्रीराजाराम गोशालाश्रम-टेटोड़ा सहित राजस्थान तथा गुजरात के कई गाँवों में स्थापित गोसेवा आश्रमों में प्रतिवर्ष दस से बारह हजार वेदलक्षणा गोवंश का पालन पोषण करके तैयार किया जाता है। इनकी सेवा में पौष्टिक आहार, हरा चारा, औषधि, स्नान, आदि से प्रेम द्वारा पूर्ण देखभाल की जाती है.

वेबसाईट :- http://www.pathmedagodham.org
         
वंदे गौमाता

कोई टिप्पणी नहीं:

Sponsored Ads