.

"जय माताजी मारा आ ब्लॉगमां आपणु स्वागत छे मुलाक़ात बदल आपनो आभार "
आ ब्लोगमां चारणी साहित्यने लगती माहिती मळी रहे ते माटे नानकडो प्रयास करेल छे.

WhatsApp Update

.

Notice Board


Sponsored Ads

Sponsored Ads

Sponsored Ads

30 अगस्त 2017

चारण समाजनुं गौरव

समाजसेवी और समाज हितेषी स्वजन भागीरथ सा सूरतपुरा,हाल जयपुर के होनहार सुपुत्र हिमांशु चारण द्वारा munster(Germany) जर्मनी में सांइटिस्ट पोस्ट हेतु जॉइन करने पर हार्दिक बधाई व अभिनंदन।समाज के लिए और राष्ट्र के लिए गौरव की बात है ये।

TODAYS HEALTH TIP

TODAYS HEALTH TIP

1 liver
ALOE LivKare TABLETS

The liver's main job is to filter the blood coming from the digestive tract, before passing it to the rest of the body. The liver also detoxifies chemicals and metabolizes drugs. As it does so, the liver secretes bile that ends up back in the intestines. The liver also makes proteins important for blood clotting and other functions.

MAIN CONTAINS

Ketali
ALOE vera
Neem
Tulsi
Bhringraj
Triphala
Yavani
Kalmegh
Chirayata
Makoy

BENEFITS

It improves liver function

Jaundice, hepatitis and spleen related disease are cured by it

Liver damage due to use of alcohol is cured by it

HOW TO USE...???

1-1 tablet before 30 mins of meal
Drink atleast 3 litres of water per day

http://taphospital.in/home/health_tips

2

OA knee and physiotherapy
Now a days osteoarthritis of knee is most common problems

http://taphospital.in/home/single_facilities/7

Jay maa

29 अगस्त 2017

श्रध्धाजली

गढवी हांसबाई मां ( वाछरादादा मंदिर नागवीरी कच्छ)
स्व.ता-23,08,2017.उम्र 97 वर्ष

कच्छ नखत्राणा तालुकाना नागवीरी गाम मा चारण जागीर श्री वाछरादादा मंदिर ना आजीवन सेवा करता स्व.हांसबाई मां गढवी पोताना जीवनकाळ दरमियान नित्य पूजा पाठ अने मात्र भक्ति अने जीभ पर मात्र आधार अने जगदम्बा ना नामनो रटण तेओ पंखी ने चाण पशुने चार अने आवेल ने आशरो आपेल तेमना जीवन अने भक्तिमय यात्रा मा केटलाक जाहेर परचा पण दादा वाछरा ना सानिध्य मा आपेल छे दैवी जाती चारण नो तेमने पुरवार करेलो अने अविचर भक्ति तथा चारणत्वना अखुट भंडार नो अर्चना साबित तेमनो जीवन अने तेमनी भक्ति अने आरदानी सुगंध हजी पण नागवीरी नी भूमि माथि आवे छे

28 अगस्त 2017

खुबडी मां लोकमेळानो अहेवाल

खुबडी मां लोकमेळानो अहेवाल

चारण-गढवी समाजनुं गौरव

चारण-गढवी समाजनुं गौरव

जो तमारा पासे चारणी साहित्य , रचनाओ, ऑडियो , पुस्तक,  होय तो आप ब्लॉग पर मुकवा मांगता होय तो मोकलवा विनंती छे.

Email - vejandh@gmail.com

Mo - 9913051642


      तमारा कोई Whatsapp ग्रुपमां चारणी साहित्यअवनवा समाचाररचनाओ, उपयोगी माहिती तथा सरकारी नोकरी जेवा अपडेट मेळववा होय तो 9913051642 नंबर ने ग्रुप मां ऐड करो.
आ मेसेज चारण समाजना दरेक भाईओ साथे अचूक शेर करशो जेथी वधुमां वधु ग्रुपना चारण समाजना भाईओ आ माहितीनो फायदो लई शके.
                         सहकार बदल आपनो आभार

➡ चारणी साहित्य ब्लॉग मां काई फेरफार के आपना सूचन के अभिप्राय आपवा नम्र विनंती छे

                                          वंदे सोनल मातरम

27 अगस्त 2017

चारण साडा त्रण प्हाडा रचना: जोगीदान गढवी (चडीया)

,         *चारण साडा त्रण प्हाडा*
*प्रथम,प्हाडो*
.            *छंद: मनहर कवित*
.           *|| नरा चाळ अवसूरा  ||*
.    *रचना: जोगीदान गढवी (चडीया)*

नरा कूळदेवी मात रवेची को लीयो नाम
शंकर को गण आखी भोम अखीयाता है
सूतको है पुत्र माताआवरी को जायो आज
अवल्ल अमल्ल नेह चारण चराता है
ईसर, उसडा, सूडा, सिंगडीया,मळी साथ
लूणल, लोयणा, लोमा, हेठोळा हयाता है
त्रण वीसुं तापे दसां भेद भये साखा भारी
मूख जोगीदान नरा साखे मलकाता है, ||०१||

कीडीया, कागडा, गुढा, गाहु, और ग्रोवियाळा,
गोखरु,घेलडा, घेला, गोयल, गवाता है
जाळग, जामंग, जेत्र हत्था, झीबा,जाजलीया
जगबल्ल, जाळफवा, जेसळ, जीता, ता है
जग्गहठ, जोगडा, देवल, धूना, देहभल्ल,
धधवाडीया,की नांधुं, धूहड, भी धाता है
नरदेव, नेचडा, के नरेला या नामाळग,
कहे जोगीदान नरा नागैया से नाता है, ||०२||

नायक, पायक, है नडीर, और नांदण भी
नजभल्ल पांड्रसिंगा, पालीया, पंकाता है
पोपरीया,बोक्सा, बुधड, बेरा, बावडा,ने
पंचाळ, भुहड, भेंसवडा, भाखुं, पाता है
भुजाळा, मोभल, मागु, मोखराम,मोढेराय
मुळीया, मालीया, राजपाळ, अंग राता है
राजशी, राजैया, रजवेठ,संगे राबा, राय
कहे जोगीदान नरा आजा सोया आता है, ||०३||

,            *अवसूरा*

सूत पूत्र धेनु बल्ल वाके आवीसूर भये
देखी चंड मुंडा देवी कूळ दर सायो है,
कनुआ, कीनीया,कूना,कूंवार, ने, कुंवरीया
कवडीया, खात्रा, खडीयेचा,गोल, खायो है
गेंदळा, गीयड, गोदडा, की खेरा, गढवी,या
खाडाळा, खडायचा, ने खुखड, खमायो है
कहे जोगीदान अभी मान करी सकौ एसा
नराकुळ चाळ अवसूरा, जग्ग आयो है, ||०१||

चांचडा, जडीया, सूगा, साजका, सुरु,ने दास,
जसगार, सगोअर, संभळा, सवायो है
जळीया, झुझार, धूळा, देवळग, देवका, ने
दरंगा, नागीया,नागलांणी, पेथा, नायो है
पाटोडीया, पसीया, ने बुधसी, पिंगूद, बंका,
भोज, बळधा, ने भूवा, मालका, मनायो है
महेरांण, मूळरव, मोखु, मोखा, मोखाया, तो
कहे जोगीदान अवसूरा आसीया, यो है, ||०२||

मूअड, पंगर, मांणु, पिंगु, सासी, पटोळीया,
पेचीया, पाटोडा, होना, होता, जग्ग हायो है
ओल, आपजड, आसपाळ, अरु आसीया, ने
लाळस, लुणीया, वणसूर, अंब वायो है
सामोर, रतन, वाणसीया, ने सोलाखा भला
भाराथे सूमोड, वेगडा, को जुद्ध भायो है
कहे जोगीदान अवसूरा अवनीपे आज
बंकडा, ने साखा जग बोंतेर बसायो है, ||०३||

,               *बिजो,प्हाडो*
.            *छंद: मनहर कवित*
.         *|| चुंहवा 'चाळ'बाटी ||*
.  *रचना: जोगीदान गढवी (चडीया)*

मृदु मती म्रिकुंद अराध्यो महादेव अती
रुद्र ने बतायी राह चारणा की रीता है
बारा साल आयु स्राप बाल सूत घर सोहे
ब्रामन को दीयो दान बोत मन बीता है
म्रीकंदु पढायो मृत्यु जीत है महेस ईश
कहो मारकंडे कैसी करंतो कवीता है
ओही मात आवरि ने कियो नाद आसमासे
कहे जोगीदान जग्ग रवेची जपीता है, ||०१||

वाकी वंश वेल वीर वेद को पठंत वारी
चहुंदीस वाय वाता चहूवा चरीता है
काजा,गोढ,कुवारीया,कीकडा,कळंग,घोडा,
खुबडीया,खुसडीया,गांगडीया,गीता है
गोड,के गवाद,जाजु,चाटका,सपाकी,चूंवा,
साबा,सोमाणींया,नाया,छाछडा,समीता है
झणीया,त्रवाई,झूला,वरसदा,वीरडा,ने
कहे जोगीदान माम,मुंजडा,मळीता है, ||०२||

घरम रखंता ध्राटी,धानीया,बधीया,धाया,
सुमंग,सताल,राजा,सवर,सपीता है
राजवळा,महातंग,भायका,ने लांगडीया,
मादळ,मेळंग,वीर वाजैया, वजीता है
वागीया,विंझवा,एपु,मांणकव, संगे मळी
चडीया तिरारे चुंवा,उमैया,अजीता है
आलगा,अभय, अरडु, है अडीखम एका
कहे जोगीदान कोडे कवित कविता है, ||०३||

.             *चूंवा चाळ बाटी*

.                     दोहो

"मैं भगवद सम भासीया, ,सोमल,सूधा समान
जो चत बाटी जोगडा,सवडा,सिरण,सुजान"

(भासीया,सोमल,सवडा,सिरण, चार साख दोहा मां )

                     *कवित*
चूडसोम वोहळीया, काळीया, खाखवा, जाजु,
चारण बाटी,यां कुळदेवी चंड मंडा है
गाडण,सिरन्न,डेर,सेलंगडा,धोमा,नाद,
धामैया,ने बुधराम, धरमा, धरंडा है
भुंड,बधा,भाट,भाटे,भेवलीया,भासा,सोज
मेंदल,मेदळ,मेघा,रतडा,रमंडा है
पांचाळीया,पीठडीया,वेलडा,वेवडा,आना,
कहे जोगीदान रणा, पीठड, प्रचंडा है

*त्रीजो प्हाडो*

.            *छंद: मनहर कवित*
.         *|| चोराडा चाळ मारु ||*
.  *रचना: जोगीदान गढवी (चडीया)*
,               *त्रीजो प्हाडो*

कृष्ण नाम शीव से ही कान हुवो कृष्ण नाम
पुत्त  शीव सूत्त चहुराड की प्रजाती है
क्षण मे दीयंती वर वरेक्षण कूळ माता
हेमाळे प्रचंडी सती सगत्ती हयाती है
सांखडो चोराड चोवी गाम पडीयार सत्ता
पूर सांतला बनास कांठ मे बसाती है
कवीया, कवल्ल,कांटा,कापडी,कोलू,ने कास
कहे जोगीदान जांपा,जोगवीर, जाती है,,||०१||

खडीया,गोरीया,गोरा,खीमतेज,खैया,खेडा
गड़दीया,गीयर, ने गांगल, गीनाती है
चोराडा,सडीर,चिला,सांखडा,ने चेड,सडा
चाय,सोमातर,जासा,जागरा,जमाती है
सनपर,सादैया,ने सगपर,सरा,समा
सिंगहूर,डोड,तेजा,तामा,ध्रोळी,ताती है
थेहड,वणसी,वडगामा,वजीया,वीकल्ल,
कहे जोगीदान देवसूर,दरसाती है,,||०२||

वरणसी,वानरा,वीरम,वजमल्ल,दादा,
देवंगडा,वाळीया,वीशळ,नांगु,वाती है
वासीया,वाघला,भोजा,देसीया,देवत,पाया,
भोजग,वागभा,भड़,भाकवीर,भाती है
धम्मळा,नासीया,मुंधा,ध्रोळीया,धींगडमल्ला
फसीया,धामळा,भाकवीर,रांणा, फाती है
अनुवा,अचळ,आंबा,अलूवा,रेराह,रंग
कहे जोगीदान हादा,हूतल्ल, हयाती है,,||०३||

पडीयार,पड़यार,मालकोश, मूळराज,
महूवा,मेमल्ल,आंख राजीया,की राती है
लांबा,लोधू,लुंणल,ने लालीया,लोयण,लूंणा,
लोपु,लभवा,ने वळी लूंणभा, लचाती है
चोराडा प्रसाख चरीताथ कीयो चडीया ने
फीरे देशो देस जाकी छप्पन की साती है
साख पर साख बाप गाम काम भयी गूंण
कहे जोगीदान त्रांणु चोराडा चराती है,,||०४||

        *चोराडा चाळ मारु*

*कवित*

शीव गण सूत वाके मारुत हे ताको पर
परमारु वंश जग्ग मारू केहलातो है
आवड उपासी कूळदेवी कूळ परमारू
मारवाड मारु वाके लार ना लेखातो है
मारुत पहाडा को भी बासिंदो हुवो हे मारू
हिंगळा प्रसंता प्हाडो कोरे ही कळातो है
कामोधा,काकरा,पाला,कोचर,ने कायपल,
कहे जोगीदान मौज करे फीरे माता है,,||०१||

करना,कागोया,गो,ने कलोळीया, खोळससी,
गोलण,गांगरा,सोदा,घोघरा,घुमातो है
घुघरीया,चांचुडीया,चंदणभूवा,घरेट
चांचबडा,सुकरीया,सीलगा, समातो है
सोमटीया,सूमटीया,सतीया,शोभत,सोई,
सूधा, सुरतानीया, ने सीरायच, सातो है
सोहरीया,सवई, ने दांती, जोखमडा,देथा,
कहे जोगीदान मारू,मोकळ, मनातो है,,||०२||

बाघरा,बेहडीया,बोहळीया,भजंग,भाकू
भालग,भोजग,भडमाल,बी भळातो है
भेरटीया,मेंणमला,रसोया,लधू,ने रांटा,
वाघीया,लोयण,वीकसीया,नीय वातो है
वासीग,उकन्न,वडीयाळ,आला,उभमाळ,
उंटा,अणपडा,संग ओरायत, आता है
गतराड संग  हथेवाळो करी भयो गेलो
कहे जोगीदान खोड पेख्यो मारु पातो है,,||०३||

*चोथो अडधो प्हाडो*

.         *छंद: मनहर कवित*
.             *|| तुंबेल ||*
. *रचना: जोगीदान गढवी (चडीया)*

तुंबडे उछेर्यो तोउं तुंमी बडो तुंबेलाय
चडीये चितार्यो वामे खोटी ना को खोड है
काग,कारीया,ने गंढ,गुजरीया,गुंगडा ने
सेडा,सिंधीया,रू जाम,जीवीया,की जोड है
धानडा,धांधुकीया,ने बढा, और बुढडा ओ
भींडा,भागचून,भला,मवर ही मोड है
शंकर कुं पीता चंड मुंडा ने रवेची सेवे
कहे जोगीदान बातां जग मे बेजोड है,||०१||

मंधरीया, मुन,रूडा राग, अरु रूडायच,
छोगां है समाज कुंणा काळजां करोड है
व्रमल, ने भाकचन,भिंडायच,भिंडा भुवा
खोळतां जडेह एसी खोटी ना को खोड है,
आयुं जग आयूं जाकी खुमारी को देखो जोग
बंका म्रद तुंबालां तो अळा पे अजोड है
सारण वरण एक धारण धरम धरम होवे
कहे जोगीदान मात सोनल को कोड है.||०२||

🙏🏻🌞🙏🏻🌞🙏🏻🌞🙏🏻🌞🙏🏻

26 अगस्त 2017

એક અભિપ્સા Whatsapp Groups

*એક અભિપ્સા*

થોડા સમય પેહલા એક ચિંતન ગ્રુપ બનાવવા બાબતે એક વિચાર રજૂ થયેલ જે બાબતે ઘણા મિત્રો ની સહમતી બનતા આજે આ આર્થિક સહયોગ થી સર્જન થયેલ એક અભિપ્સા નામે વોટ્સઅપ ગ્રુપ બની રહ્યું છે *જેમાં સાહિત્યક, અધ્યાત્મિક,ઐતિહાસિક વિષય ઉપર જુદા જુદા વિષયજ્ઞ પોતાનું ચિંતન રજૂ કરશે હાલ રવીન્દ્ર લાંબા પોતાનું મૌલિક ચિંતન ઓડિયો દ્વારા રજૂ કરશે.*

આ ગ્રુપ માં આર્થિક સહમતી બાદ જ સભ્યપદ મળશે ચારણો-ચારણેતર દ્વારા વિષય અનુલક્ષી એક એક હેતુલક્ષી વોટ્સઅપ ગ્રુપ બન્યું જે આવકાર્ય છે *વાર્ષિક રૂ.૨૫૦૦ ની સભ્ય ફી સાથે આપ શું સહમત છો ?* જો હોવ તો સંપર્ક

*ગ્રુપ માં જોડાવવા માટે સંપર્ક*

દિલીપ ભાઈ શિલ્ગા (9825005224)
બળવંત ભાઈ બાટી,
ડો.બળવંત ભાઈ ખડીયા,
શક્તિ ખડીયા,
રવીન્દ્ર લાંબા
હિતેશ મહેડુ.( 98245 06254)

*પૈસા જમા કરવા માટે ની માહિતી*

"આઈ શ્રી સોનલ ચારણ પરિવાર ટ્રસ્ટ"

(સ્ટેટ બેન્ક ઓફ ઇન્ડીયા)
(GIDC Odhav)
ખાતા નં. ૩૬૧૯૩૨૬૫૫૨૮
A/C No. 36193265528
IFC Code: SBIN0001387

चारणी साहित्य मा रुची धरावता चारण युवानो जोग संदेश

तारा ने तारा तणो,ऐकज उर आधार ।
बुडता होय तारा बाणको,तो मां खोणल देजे खमकार ।। 


चारणी काव्यो, शब्दो अने चारणी वाणी ऐ साहित्य जगत मा ऐक पोतानी आगवी शैली द्वारा  अनेरु स्थान मेणव्यु छे अने  चारणी साहित्य  ऐ  शिष्ट नही  पन विशिष्ट साहित्य छे. 

आ चारणी साहित्य,आपणा चारणी छंदो,जगदंबा नी स्तुति ओ के पछी  महान चारण महात्मा, कविओ  द्वारा  लखायेला चारणी ग्रंथो, देवीयाण-हरिरस,अवतार चरित्र,पांडव यशेन्द्रु चंद्रीका,जशवंत भुषण,वंश भास्कर,कागवाणी, आवा अनेक प्राप्य अप्राप्य पुस्तको  तेमज चारणी छंदो नु पध्धति सर बंधारण  पायानु व्याकरण नु ज्ञान,केटला प्रकार ना छंदो छे,केवी रीते बोलवु  केवी  रीते  ऐनु पठन करवु आ बधु  ज्ञान  आपने आपवा मा  आवशे, तेमज प्राप्य अप्राप्य पुस्तको आपने आपवा मा  आवशे.

आ नानकडो प्रयास आपणा चारणी साहित्य ना वक्ता  ऐवा  चारण कविराज अनुभा जामंग नो  आ  ऐवो ऐक प्रयास छे के जेथी करी आपणी चारणी अस्मिता आपणो चारणी अमुल्य वारसो  जणवाइ रहे.
जो कोइ चारण जुवानो ने चारणी साहित्य मा रुची होय तो चारण कवि  अनुभा जामंग नो  संपकॅ  साधो
अनुभा जामंग (बावळी):- 9825710949
भद्रायु गढवी(सोमल-बाटी)(भुज-कच्छ):- 87585 44155

23 अगस्त 2017

श्री कोटेश्वर महादेव चारण शकित युवक मंडळ वडोदरा द्रारा सन्मान

श्री कोटेश्वर महादेव चारण शकित युवक मंडळ वडोदरा द्रारा दर वर्षे श्रावण मासे चारण समाज तथा अन्य समाजना कलाकारोने सन्मानित करवामां आवे छे.

आ वर्षे हरदासभा गढवीनुं सन्मान करवामां आवेल

श्री कोटेश्वर महादेव चारण शकित युवक मंडळ
(1) प्रविणभा गढवी
(2) दिलीपभा गढवी
(3) जयेश बारोट
(4) नरेन्द्र गोस्वामी
(5) नाराणभा गढवी     
(6) गोपालभा गढवी          
(7) नीलेशभा गढवी
(8) भीखाभाई पंचाल
(9) प्रभुभाई दरबार

जन्म दिवसनी खूब खूब शुभेच्छाओ श्री विजयभाई के. गढवी (गढवी साहेब)

जन्म दिवसनी खूब खूब शुभेच्छाओ

श्री विजयभाई के. गढवी (गढवी साहेब)
प्रमुखश्री अखिल कच्छ चारण सभा
(पूर्व पोलीस इन्सपेकटर साहेब)
राष्ट्रपति ऐवोर्ड विजेता पोलीस अधिकारी साहेब

22 अगस्त 2017

RTO द्वारा बहुत ही सराहनीय कदम

RTO द्वारा बहुत ही सराहनीय कदम

अब अगर आप सड़क पर चल रहे किसी भी वाहन के मालिक का नाम जानना चाहते हैं
आपको टाइप करना है *VAHAN* स्पेस गाड़ी का नंबर और भेजना है *7738299899* पर, कुछ ही देर में आपको रिटर्न मेसेज प्राप्त होगी जिसमें वाहन मालिक का नाम, वाहन किस क्षेत्र का है और गाड़ी के माड्ल का नाम प्राप्त हो जाएगा.........
इससे आपको...... ट्रेफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों और एक्सीडेंट करने वाले या जिस वाहन का एक्सीडेंट हुआ है उनकी कम्पलेंट करने या शिनाख्त करने में मदद मिलेगी
जैसे
*VAHAN AP28ANXXXX*

बहुत अच्छा संदेश है, कृपया इस नम्बर को मोबाइल मे सेव करें एवं अन्य लोगों तक भी पहुंचाए........
अपनी गाड़ी का नंबर भी ट्राई करें.

आई सोनल मां नी करु आरती

राग = ( आनंद आनंद करु आरती)

रचयता =:  माया बेन गढवी
गाम =:  राजकोट , जसदण

आई सोनल मां नी करु आरती
देवी मढडा वाळी
मां देवी मढडा वाळी
शेवक गण सव शरणे नमता
देवी देव दयाळी

चारण कुळ मा लय अवतारो
जन्मी नवलाख बाई
मां जन्मी नवलाख बाई (१)
आई सोनल मां नी करु आरती

पोष शुद ने बीज ने टाणे
आव्या सोनल बाई
मां आव्या सोनल बाई (२)
आई सोनल मां नी करु आरती

आंगण आंगण तोरण बंधाव्या
ढोल वागे शरणांई
मां ढोल वागे शरणांई (३)
आई सोनल मां नी करु आरती

लापशी केरा आंधण मुकीया
नेवेध धरवा बाई
मां नेवेध धरवा बाई  (४)
आई सोनल मां नी करु आरती

धुप दिपक ने थाळ धरीया
स्वीकारो ने तमे बाई
मां स्वीकारो ने बाई   (५)
आई सोनल मां नी करु आरती

परगट परचा माळी तारा
अढळक जोया बाई
मां अढळक जोया बाई (६)
आई सोनल मां नी करु आरती

भेख उतारी ओढ्यो भेळीयो
राखी लाजु तमे बाई
मां राखी लाजु बाई (७)
आई सोनल मां नी करु आरती

अवसर आव्यो आंगण आजे
उजवे बीज तारी बाई
मां उजवे बीज तारी बाई  (८)
आई सोनल मां नी करु आरती

अरजी अमारी सांभळ बाई
देजे कुळ नरवाई
मां देजे कुळ नरवाई   (९)
आई सोनल मां नी करु आरती

दिन दुंखीया नी वारे चडजे
करजे बाई रखवाळी
मां करजे बाई रखवाळी  (१०)
आई सोनल मां नी करु आरती

आरे आरती आई सोनल नी
नामे आजे गाई
मां नामे आजे गाई   (११)
आई सोनल मां नी करु आरती
देवी मढडा वाळी
शेवक गण सव शरणे नमता
देवी देव दयाळी
आई सोनल मां नी करु आरती
आई सोनल मां नी करु आरती

🙏 भुल चुक सुधारवी 🙏

🌷🌷!! Jay Sonal ma !!🌷🌷

Gpsc Online Classes

*Gpsc Online Classes*

*अभीजीतभाई गढवी* अने टीम द्रारा स्पर्धात्मक परीक्षाओ नी तैयारी माटेना क्लासीस गांधीनगर खाते शरू करेल छे

GPSC ONLINE YOUTUBE चेनलना निष्णात शिक्षको द्रारा संपूर्ण कोचींग अने Study Material ओछा मां ओछी फी साथे

*चारण-गढवी समाजना विधार्थीओने फ्री मां डिस्काऊंट आपवामां आवशे*

*महिलाओं माटे फी मां 50 % स्कोलरशीप आपवामां आवशे*

ऐकवार अवश्य मुलाकात ल्यों

*सरनामुं*
Gpsc Online Classes
315, 2nd Floor, B/H ICICI Bank, Near Gh-4 Circle, Sector-16, Gandhinagar

संपर्क
अभीजीत गढवी
9601365318
8160697005

20 अगस्त 2017

किरणबेन गढवी - तारा मुखडानी जोई मलकाट - रचना कविश्री आरव गढवी

किरणबेन गढवी - तारा मुखडानी जोई मलकाट - रचना कविश्री आरव गढवी


कसुंबल कंठ ना मालिक स्व. हेमुभाई गढवी नी 53 मी पुण्यतिथी

आजे कसुंबल कंठ ना मालिक स्व. हेमुभाई गढवी नी 52 मी पुण्यतिथी छे.


नाम               ::- हेमु
पिता नुं नाम     ::- नानभा
मातानुं नाम      ::- बालुबा
जन्म               ::- 04-09-1929
जन्म स्थळ       ::- ढांकळिया ता.सायला जी. सुरेन्द्रनगर

वधारे माहिती माटे ::- Click Here


कवळा सासरीया 




तेमना स्वर मां अमुल्य ओडियो नीचे मुजब मुकवावा नो नानकडो प्रयास करेल छे.

(1) अमुल्य नाटको / लोकवार्ताओ


  1. RANK NU RATAN
  2. BHIMO GARNIYO
  3. DEHU NA DAN
  4. HAMIRJI GOHIL
  5. HIPO KHUMAN
  6. JAHAL NI CHITHI
  7. KAVLA SASARIYA
  8. PATALI 
  9. PRUTHVIRAJ CHAUHAN
  10. RAJA HARISHCHANDR
  11. RANO KUNVAR
  12. SHETH SHAGALSHA
  13. VEER MANGDA VALO

आ ओडियो  करशनभाई परमार अमेरीका थी मोकलवा बदल खूब खूब आभार

आ ओडियो  करशनभाई परमार अमेरीका थी मोकलवा बदल खूब खूब आभार


  1. JAG NE JADVA
  2. BHOLI RE BHARVAN
  3. SHIVAJI NU HALRADU
  4. HEMU GADHAVI
  5. KASUBI NO RANG
  6. AAJ AME GOKUL GYATA
  7. AABH MA UGEL CHANDLO
  8. AADI KADI VAV
  9. AAVDA MANDIR MA
  10. BAR BAR VARSE-1
  11. BAR BAR VARSE-2
  12. CHAILAIYA NU HALARDU
  13. DUHA CHAND
  14. VIDHI E LAKHEL LEKH
  15. JOB NIYU AAJ AAVSE NE
  16. KAN TARI MORLI
  17. KASUBI NO RANG
  18. MARA RE SAM
  19. MARU VANRAVAN RE
  20. AME MANIYARE GOKUL GAM NA
  21. O RANG RASHIYA
  22. SAVA BASERU DATARDU RE
  23. KHAMA MARA NANDJI NA LAL
  24. KUTCH MA ANJAR MOTA SHAHER RE
  25. SONA VATKADI
आ ऑडियो वेरसी भाई वरमल - भाटिया कल्याणपुर देव भूमि द्रारका  थी मोकलवा बदल खूब खूब आभार

हेमुभाई गढवी नी 52 मी पुण्यतिथी ऐ कोटी कोटी वंदन


19 अगस्त 2017

याद हेमुं आवशे कविश्री दाद

कविश्री दादुदानजीअे हेमु गढवी नी रचेल एक रचना

( छंद सारसी )
चडशे घटा घनघोर गगने मेघ जळ वरसावशे ,
नील वरणी ओढणी ज्यां धरा सर पर धारशे ,
गहेकाट खातां गिर मोरां पियु धन पोकारशे ,
एे वखत आ गुजरातने पछी याद हेमुं आवशे ,            ||1||

चडशे गगनमां चांदलो ने रात नवरात्युं हशे ,
संध्या मळीने साथीडा जे"दी रासडे रमता हशे ,
तेदी" रमण राधा काननां कोई गीतडां ललकारशे ,
एे वखत आ गुजरातने पछी याद हेमुं आवशे ,           ||2||

तु:खी पियरनी दिकरी कोई देश देशावर हशे ,
संतापना सासरवासना अे जीवनभर सहेती हशे ,
वहअे वगोव्यानी रेकर्डु ज्या रेडियो पर वागशे ,
एे वखत आ गुजरातने पछी याद हेमुं आवशे ,          ||3|| 

मोंघामुली "सौराष्ट्रनी रसधार" जे रचतो गयो ,
ए कलमनी वाचा बनी तुं गीतडां गातो गयो ,
अे लोकढाळो परजना कोई   "दाद"   कंठे धारशे ,
एे वखत आ गुजरातने पछी याद हेमुं आवशे ,           ||4||

( दुहा )
कंठ गयो के"णी गई , गई , मरदानगीनी वात ,
हद थई के हेमुं गयो , गरीब थयुं गुजरात ,

संगीतमां सोंपो पड्यो , गमे सुणवुं गाम ;
तुं मरतां मिजलस गई , दिलनी हेमुदान ,

( भूल होयतो सुधारीने वांचवु )

:- रचयता कविश्री दादुदान प्रतापदान गढवी ,

:- टाईप मनुदान गढवी

.        🙏 वंदे सोनल मातरम् 🙏

|| सुर्यमल मिशण प्रशस्ति || कवि धार्मिक गढवी

*|| सुर्यमल मिशण प्रशस्ति ||*
*(छंद:- दोहरा)*
वर्यो भोग विलास, के वर्यो वैराग पर
प्रत्युत्तर नहि पास, भ्रमित सर्व गण भाणमल
बुंदी राज बरंग, अंग विशेष शरीर वत
धर्म अधर्म सुढंग, आलेखन द्ये अर्कमल
हाडा पासे हैक, हैक छताय हजार सम
हारे जाय हरेक, शास्त्रविदो कवि सुर्यमल
मदिरा गणिका मित्र, चोट अपार चरित्र पर
तर्क जगत पर तित्र, उड देखाड्यो अर्कमल
*(छंद छप्पय)*
नमन सुर्यमल नाम, माम चारण गण मध्ये
कवि तम कर्म अजोड, तोड पायो नहि पद्ये
काव्य अषाढी कंद, छंद नहि लेश छटक्के
मूर्धस्थान अति मार, शब्द पळ फळे पटक्के
फल आम नही पण आम धर, काल सुखो कविरो कडौ
तद् मेह रती काव्ये बरस ,ब्रख हाडौती पर बडौ
-कवि धार्मिक गढवी

18 अगस्त 2017

आई श्री सोनल युवक मंडल.बनासकांठा पालनपुर का संक्षीप्त मे परिचय

जय माताजी
*आई श्री सोनल युवक मंडल.बनासकांठा पालनपुर का संक्षीप्त मे परिचय*

*संस्था / ट्रस्ट का नाम :- आई श्री सोनल युवक मंडल,बनासकांठा,*

स्थापना :2005

सरनामुं :-c/o जे.डी.गढवी
कर्नावती सोपिंग सेंटर, भरमानी रेस्टोरन्ट के  उपर, अमदावाद हाईवे,
पालनपुर Pin 385001
गुजरात

*कार्य:-समाज सेवा, "सोनलकरनी सहायकोष के  नाम से सहाय कोष चलाया जाता हे  जीनमे लास्ट छे साल से*
*प्रती मास 44 विधवाऔ और 6 विध्याथी औ को 500 से 1500 की  सहाय की रकम बाय चेक से उनके  बेक खाते मे  जमा करवाई जाती हे*

Note :सहायकोष मे समाज के कोई भी जरुरत मंद व्यक्ति ऐप्लीकेषन दे सकता हे

*प्रती वर्ष सोनल माताजी के जन्मदिन " सोनल बीज" के दिन माताजी की  पुजा की जाती हे इनमे पालनपुर और आस पास के गावो के लोग भाग लेते हे*

*सोनल बिज के  उपलक्ष मे सोनल माताजी के उपदेषो को सही वाचा देने हेतु  स्नेह मिलन का  आयोजन किया जाता हे जीनमे  बनासकांठा,माहेसाना,पाटन. ईडर, राजसथान के लगभग सभी विस्तार  के  लोको की खाश भागीदारी होती हे*

*स्नेहमिलन मे अलग अलग क्षेत्र मे कोइभी सिद्धी हासील करने वाले  समाज के लोगो का व्यक्तिऔ का  सन्मान.बहुमान  किया जाता हे*

*समाज के विध्याथी ओ स्टा.7 से ग्रेज्यूऐशन तक  70% या उनसे ज्यादा अंक प्राप्त करने वालो को सन्मानपत्र ओर मोमेंटो देकर सन्मानीत किया जाता हे*

*स्नेहमिलन समारोह के दिन जीनको भी सरकारी नई नोकरी लगी हो उनका भी सन्मान किया जाता हे*

*समाज के लिये पालनपुर मे स्व.श्री बी.के.गढवी साब और स्व.श्री मुकेशभाई गढवी ने दी हुई जमीन पर क्रिसना मोहन छात्रवास के  नाम से  आधूनीक सुविधा वाली होस्टेल बनवाई गई हे इन मे समाज का कोइ भी स्टूडन्ट लाभ ले सकता हे*

*समय समय पर समाज के अलग अलग गावो मे  मेडीकल केम्प का  आयोजन किया जाता हे*
*समाज के युवा वर्ग के लीये  कोम्पीटीशन ऐकजाम  स्परधात्मक  ऐक्ष्जाम के लिये कोचिग केम्प का आयोजन किया जाता हे*

*मंडल मे आये हुऐ चाहे पाच रुपये भी क्यु नहो सभी रकम की पक्की रसीद दी जाती हे और स्नेह मिलन समारोह के दिन आय और खर्च का ब्योरा  लीखीत रुप मे समाज को पेष किया जाता हे*

संपर्क मोबाईल नंबर :-
9426704475
9979744788
9723815467

*नोट :मंडल को डोनेषन देना चाहे तो उपयुक्त नंबर पर संपर्क करे*

   🙏 वंदे सोनल करनी मातरम् �🙏

Sponsored Ads